चुन-चुनकर पकड़े पुलिस ने । किया ताबड़तोड़ लाठीचार्ज । देहरादून के विकासनगर में जबरदस्त बबाल , और बबाल का कारण हुआ बीते 4  दिनों से गायब एक  युवक । 

Youth icon yi media logo . Youth icon media . Shashi bhushan maithani paras

देहरादून के विकासनगर में जबरदस्त बबाल , और बबाल का कारण हुआ बीते 4  दिनों से गायब एक  युवक । 

रविवार , 20 जनवरी को मचा बबाल । 
चुन-चुनकर पकड़े पुलिस ने । किया ताबड़तोड़ लाठीचार्ज । देहरादून के विकासनगर में जबरदस्त बबाल , और बबाल का कारण हुआ बीते 4  दिनों से गायब एक  युवक । 
चुन-चुनकर पकड़े पुलिस ने । किया ताबड़तोड़ लाठीचार्ज । 

स्थानीय लोगों ने लापता युवक की तलाश को लेकर पुलिस मांग की थी , स्थानीय लोगों ने पुलिस पर आरोप लगाया कि युवक की तलाश में तत्परता नहीं बरती गई ।  इस बीच गुस्साए लोगों ने हजारों की संख्या में एकत्रित होकर सड़क जाम कर दी थी । तभी भारी भीड़ को लामबंद होते देख पुलिस प्रशासन सतर्क हो गया और आन्दोलनरत लोगों पर पुलिस ने जबरदस्त लाठीचार्ज कर दिया ।  अचानक हुई ताबड़तोड़  लाठीचार्ज  के बाद शहर में अफरा तफरी का माहौल बन गया इस बीच दर्जनों लोगों के लाठीचार्ज में घायल होने की अपुष्ट खबर भी मिली । पुलिस ने न सिर्फ लाठीचार्ज किया बल्कि भीड़ पर  आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए ऐसा हमारे सूत्रों से पता चला है । प्रत्यक्षदर्शीयों की माने तो विकास नगर में हुए लाठीचार्ज ने उत्तराखंड आंदोलन जैसा उग्र माहौल बना दिया । जिसके बाद से हालात बेकाबू हो गए और स्थिति बेहद तनावपूर्ण हो गई । फलस्वरूप नगर में अतिरिक्त सुरक्षा बल की तैनाती करनी पड़ गई है । इस बीच पुलिस के आला अधिकारी भी मौके पर डट गए हैं और हालात पर नजर बनाए हुए हैं।

चुन-चुनकर पकड़े पुलिस ने । किया ताबड़तोड़ लाठीचार्ज । देहरादून के विकासनगर में जबरदस्त बबाल , और बबाल का कारण हुआ बीते 4  दिनों से गायब एक  युवक । 
फुल एक्शन में पुलिस ! 

यहां बताते चलें कि  विकासनगर से  32 वर्षीय मोती सिंह बीते 4 दिनों से लापता था । लोगों का कहना था कि मोती सिंह का क्षेत्र के ही वाशिंदे नदीम और अहसान ने  अपहरण कर दिया था । और बाद में इन दोनों ने मोती सिंह की हत्या कर डाली । और उसे शक्ति नहर में फैंक दिया ।  उक्त सूचना मोती सिंह के परिजनों ने पुलिस थाने में दी और दोनों आरोपियों के खिलाफ शिकायत भी दर्ज करा दी थी जिसके बाद पुलिस ने नदीम और अहसान दोनों को गिरफ्तार कर लिया लेकिन मोती सिंह का शव बरामद नहीं कर पाई । जिससे स्थानीय लोगों में पुलिस के खिलाफ गुस्सा पनपा और फिर सड़क पर उतरने का निश्चय कर लिया  । 

फिर 20 जनवरी रविवार को देखते ही देखते विकासनगर क्षेत्र में माहौल बेहद तनावपूर्ण हो गया  जहां लाठीचार्ज के बाबजूद भी माहौल बिगड़ने की स्थिति को देखते हुए कर्फ्यू लगाने का निर्णय प्रशासन द्वारा लिया गया है । अब  पुलिस और प्रशासन के सामने यह बड़ी चुनौती है कि कहीं विकासनगर की चिंगारी आसपास के क्षेत्रों से होते हुए राजधानी तक न पहुंच जाए ।  वैसे आलाधिकारियों ने बताया कि स्थिति जल्दी ही सामान्य हो जाएगी और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी । मोती सिंह के शव की तलाश के लिए जल पुलिस भी तेजी से शक्ति नहर को सर्च कर रही है । साथ ही नहर में पानी को कम किया जा रहा है । स्थानीय लोगों से शांति की अपील भी की जा रही है । 

By Editor