Ramandeep Kaur . Salma . Manaswini Maithani Yashasvini Maithani । Shashi Bhushan Maithani Paras । youth icon creative foundation society मिली दो और बेटियां ! अब दो नहीं चार बेटियाँ चलाएंगी मुहिम ! समौण इंसानियत की ।

Youth icon yi media logo . Youth icon media . Shashi bhushan maithani paras

मिली दो और बेटियां ! अब दो नहीं चार बेटियाँ चलाएंगी मुहिम ! समौण इंसानियत की ।

 

सलमा और रमनदीप कौर । बाकी मनस्विनी मैठाणी व यशस्विनी मैठाणी का जिक्र तो पहले से आप सबके सामने होता ही रहता है । रमनदीप ( Ramandeep Kaur ) और सलमा ( Salma )कानून के मेधावी छात्राएं हैं और दोनों को न्यायाधीश बनना है । जिसका हम सबको बेसब्री से

Ramandeep Kaur .  Salma . Manaswini Maithani Yashasvini Maithani । Shashi Bhushan Maithani Paras । youth icon creative foundation society मिली दो और बेटियां ! अब दो नहीं चार बेटियाँ चलाएंगी मुहिम ! समौण इंसानियत की ।

इंतजार रहेगा । धन्यबाद प्रोफेसर पारुल दीक्षित (Parul Dixit ) जी व प्रोफेसर ओर्णिमा ( Ornima ) का जो आपने इन मेधावी बच्चों को हमसे संपर्क करवाया ।

लेकिन उससे पहले यह राष्ट्र के अच्छे नागरिक बनकर सेवा कार्य से जुड़ना चाहते हैं । जिसके लिए इन्होंने हमारी खास मुहिम समौण इंसानियत की ( Samaun insaniyat ki ) को चुना है ।
अब हमारी मुहिम को एक या दो नहीं बल्कि 4 बेटियाँ चला रही हैं ।

Ramandeep Kaur . Salma . Manaswini Maithani Yashasvini Maithani । Shashi Bhushan Maithani Paras । youth icon creative foundation society मिली दो और बेटियां ! अब दो नहीं चार बेटियाँ चलाएंगी मुहिम ! समौण इंसानियत की ।

अब बात करते हैं तस्वीरों की । यह तस्वीरें देहरादून रायपुर रोड़ चूना भट्टा की हैं । यहाँ के बारे में सलमा और रमनदीप ने बताया कि यहां इस इलाके में बहुत गरीब लोग रहते हैं जो कि हॉफ हॉफ स्वेटर या कमीज व कुर्ते में रहते हैं ज्यादा ठण्डा होने पर फटे, पुराने, पतले तौलिए ओढ़े हुए दिखाई देते हैं । वाकही जब यहां गए तो वही सब दृश्य दिखाई दिया जो कि सलमा और रमन ने बताया था ।

Ramandeep Kaur . Salma . Manaswini Maithani Yashasvini Maithani । Shashi Bhushan Maithani Paras । youth icon creative foundation society मिली दो और बेटियां ! अब दो नहीं चार बेटियाँ चलाएंगी मुहिम ! समौण इंसानियत की ।

लगातार तीन दिनों से हम यहां कपड़े बांट रहे हैं बच्चों को अपने हाथों से कपड़े पहने भी रहे हैं । आज की तस्वीरें राहत देने वाली हैं क्योंकि पिछली दो रातों में हम लोग यहां दो गाड़ी कपड़े लेकर जा चुके हैं और आज सबके सब गर्म कपड़े पहने हुए दिखाई दिए ।

आज यहां की महिलाएं मुझे अपने घरों में ले गई अपने घरों का हाल बताया उन्हें लगा में कोई सरकारी आदमी या चुनाव की तैयारी करने वाले कोई नेताजी हूँ । (एक बार में सबसे विनम्र आग्रह करूँगा कि हमारे इस मानवता की मुहिम को राजनीति से न जोड़ें) राजनीति करने वालों को राजनीति मुबारक हो । मेरा लक्ष्य जीवन में कभी भी राजनीति नहीं रहा और न रहेगा । लेकिन यह जरूर कहूंगा कि नेताओं से अच्छी भावना व निष्कपट इंसानियत हमारी टीम में है ।

Ramandeep Kaur . Salma . Manaswini Maithani Yashasvini Maithani । Shashi Bhushan Maithani Paras । youth icon creative foundation society मिली दो और बेटियां ! अब दो नहीं चार बेटियाँ चलाएंगी मुहिम ! समौण इंसानियत की ।

बहरहाल इन लाचार लोगों के घरों की हालात देखी जो कि बहुत ही बुरी है । बोलने को टिन की छतें हैं लेकिन वह औंस के कारण रात के दो बजे बाद टपकने लगती हैं ।

ओढ़ने के लिए सिर्फ इक्का दुक्का चादरें और उसी में पूरा परिवार रातें गुजार लेते हैं । इसलिए इन्होंने हमारे मार्फ़त आप सबसे अपील की है कि अगर हो सके तो आज की रात इन्हें एक एक कम्बलें मिल जाएगी तो सबको दुआ मिलेगी ।
अब अगर आप लोग इच्छुक हों तो आज 4 बजे तक मुझे नई पुरानी कैसी भी कम्बलें भेंट कर सकते हो । हमें आज कुल 35 कम्बलों की आवश्यकता है ।

संपर्क करें –

शशि भूषण मैठाणी पारस
रंगोली आंदोलन एक रचनात्मक मुहिम ।
9756838527
7060214681
Shashi Bhushan Maithani Paras

Manasvini Maithani .  Yashasvini Maithani

By Editor