Airplane restorent in dehradun . first concept in uttarakhand . Rishabh Sharma . S. K. Rastogi and Reema देहरादून - हरिद्वार हाईवे के किनारे आंखों के सामने जब विशालकाय जहाज उतरा देखा तो खुद की आंखों पर यकीन करना मुमकिन न था, लेकिन जैसे-जैसे जहाज के नजदीक गया तो वहां देखा स्टाफ सहित अन्य सभी लोग स्वस्थ दिखे और वह सभी जहाज की मेन्टिनेंश में लगे थे । कोई जहाज के पंखों को ठीक करने में लगा था तो कोई कॉकपिट में तकनीकि यंत्रो की मरम्मत करते दिखाई दे रहे थे । उत्तराखंड के इतिहास में यह अपने आप में पहली घटना है । भारत में विशालकाय जहाज की ऐसी लैंडिंग अभी तक सिर्फ पंजाब और दिल्ली में हुई है । जबकि भारत के अलावा स्विट्जरलैंड में भी इस तरह की कुछ लैंडिंग हुई है । और अब यह करिश्मा उत्तराखंड के देहरादून में भी हो गया है । जिससे अब इस शानदार उपलब्धि के लिए दुनियाँभर में देहरादून का नाम सुर्खियां में आना स्वाभाविक है । फोटो में दिखाई दे रहे इस जहाज पर अब आप भी सवार हो सकेंगे, लेकिन ये आपको किसी मंजिल तक नहीं पहुंचा पाएगा ! बताते चलूं कि यह जहाज यहां से कभी भी उड़ान नहीं भरेगा । बल्कि यह आपका पेट भरेगा.. आपको आनन्द देगा । आपके रोमांच को बढ़ाएगा !

Youth icon yi media logo . Youth icon media . Shashi bhushan maithani paras

देहरादून के रिहाइशी इलाके में सुरक्षित उतरा विशालकाय जहाज ! देश में है यह तीसरा मामला ।

 

देहरादून में पायलट और को-पायलट की सूझ-बूझ से आसमान में गोता लगाते हुए विशालकाय जहाज सीधे देहरादून के रिहाइशी इलाके के बीचों-बीच अति व्यस्त हाईवे से सटे एक प्लाट में सुरक्षित लैंडिंग कैसे कर गया ?

 

Shashi bhushan maithani paras , शशि भूषण मैठाणी पारस , यूथ आइकॉन , youth icon
शशि भूषण मैठाणी पारस

देहरादून – हरिद्वार हाईवे के किनारे आंखों के सामने जब विशालकाय जहाज उतरा देखा तो खुद की आंखों पर यकीन करना मुमकिन न था, लेकिन जैसे-जैसे जहाज के नजदीक गया तो वहां देखा स्टाफ सहित अन्य सभी लोग स्वस्थ दिखे और वह सभी जहाज की मेन्टिनेंश में लगे थे । कोई जहाज के पंखों को ठीक करने में लगा था तो कोई कॉकपिट में तकनीकि यंत्रो की मरम्मत करतेदिखाई दे रहे थे ।

Airplane restorent in dehradun . first concept in uttarakhand . Rishabh Sharma . S. K. Rastogi and Reema देहरादून - हरिद्वार हाईवे के किनारे आंखों के सामने जब विशालकाय जहाज उतरा देखा तो खुद की आंखों पर यकीन करना मुमकिन न था, लेकिन जैसे-जैसे जहाज के नजदीक गया तो वहां देखा स्टाफ सहित अन्य सभी लोग स्वस्थ दिखे और वह सभी जहाज की मेन्टिनेंश में लगे थे । कोई जहाज के पंखों को ठीक करने में लगा था तो कोई कॉकपिट में तकनीकि यंत्रो की मरम्मत करते दिखाई दे रहे थे । उत्तराखंड के इतिहास में यह अपने आप में पहली घटना है । भारत में विशालकाय जहाज की ऐसी लैंडिंग अभी तक सिर्फ पंजाब और दिल्ली में हुई है । जबकि भारत के अलावा स्विट्जरलैंड में भी इस तरह की कुछ लैंडिंग हुई है । और अब यह करिश्मा उत्तराखंड के देहरादून में भी हो गया है । जिससे अब इस शानदार उपलब्धि के लिए दुनियाँभर में देहरादून का नाम सुर्खियां में आना स्वाभाविक है । फोटो में दिखाई दे रहे इस जहाज पर अब आप भी सवार हो सकेंगे, लेकिन ये आपको किसी मंजिल तक नहीं पहुंचा पाएगा ! बताते चलूं कि यह जहाज यहां से कभी भी उड़ान नहीं भरेगा । बल्कि यह आपका पेट भरेगा.. आपको आनन्द देगा । आपके रोमांच को बढ़ाएगा !

उत्तराखंड के इतिहास में यह अपने आप में पहली घटना है । भारत में विशालकाय जहाज की ऐसी लैंडिंग अभी तक सिर्फ पंजाब और दिल्ली में हुई है । जबकि भारत के अलावा स्विट्जरलैंड में भी इस तरह की कुछ लैंडिंग हुई है । और अब यह करिश्मा उत्तराखंड के देहरादून में भी हो गया है । जिससे अब इस शानदार उपलब्धि के लिए दुनियाँभर में देहरादून का नाम सुर्खियां में आना स्वाभाविक है ।

फोटो में दिखाई दे रहे इस जहाज पर अब आप भी सवार हो सकेंगे, लेकिन ये आपको किसी मंजिल तक नहीं पहुंचा पाएगा ! बताते चलूं कि यह जहाज यहां से कभी भी उड़ान नहीं भरेगा । बल्कि यह आपका पेट भरेगा.. आपको आनन्द देगा । आपके रोमांच को बढ़ाएगा !

Airplane restorent in dehradun . first concept in uttarakhand . Rishabh Sharma . S. K. Rastogi and Reema देहरादून - हरिद्वार हाईवे के किनारे आंखों के सामने जब विशालकाय जहाज उतरा देखा तो खुद की आंखों पर यकीन करना मुमकिन न था, लेकिन जैसे-जैसे जहाज के नजदीक गया तो वहां देखा स्टाफ सहित अन्य सभी लोग स्वस्थ दिखे और वह सभी जहाज की मेन्टिनेंश में लगे थे । कोई जहाज के पंखों को ठीक करने में लगा था तो कोई कॉकपिट में तकनीकि यंत्रो की मरम्मत करते दिखाई दे रहे थे । उत्तराखंड के इतिहास में यह अपने आप में पहली घटना है । भारत में विशालकाय जहाज की ऐसी लैंडिंग अभी तक सिर्फ पंजाब और दिल्ली में हुई है । जबकि भारत के अलावा स्विट्जरलैंड में भी इस तरह की कुछ लैंडिंग हुई है । और अब यह करिश्मा उत्तराखंड के देहरादून में भी हो गया है । जिससे अब इस शानदार उपलब्धि के लिए दुनियाँभर में देहरादून का नाम सुर्खियां में आना स्वाभाविक है । फोटो में दिखाई दे रहे इस जहाज पर अब आप भी सवार हो सकेंगे, लेकिन ये आपको किसी मंजिल तक नहीं पहुंचा पाएगा ! बताते चलूं कि यह जहाज यहां से कभी भी उड़ान नहीं भरेगा । बल्कि यह आपका पेट भरेगा.. आपको आनन्द देगा । आपके रोमांच को बढ़ाएगा !

कुछ ऐसा  👆 होगा जहाज के अंदर का नजारा ! 

जी हाँ …. दरअसल यहां मैं बात कर रहा हूँ एक ऐसे जहाज की जिस पर अब आप कभी भी किसी भी वक़्त अपनी सुविधानुसार सवार होकर जायके का आनंद ले सकेंगे । यानी कि यह है जहाज जैसा दिखने वाला हवाई रेस्टोरेण्ट जो देहरादून में ऋषभ शर्मा, एस. के. रस्तोगी और रीमा की रचनात्मक सोच से तैयार हो रहा है ।

यहां आपको बता दें कि भारत में इस थीम पर लुधियाना और दिल्ली में ही रेस्टोरेंट है और अब देहरादून का नाम भी लिस्ट में जुड़ गया है । निःसंदेह इस रचनात्मकता से उत्तराखंड में आने वाले पर्यटकों को एक नई अनुभूति प्राप्त होगी ।

अब हर रोज बैठें जहाज में :

हवाई जहाज को ही बना दिया डाला आलिशान रेस्टोरेंट, 5 स्टार सुविधाएं होंगी इस जहाज में ।

क्या आपने कभी जहाज को छुआ है ? क्या आपने कभी जहाज के अंदर बैठकर एयर होस्टेस की मेहमान नवाजी का मजा लिया है ? या जहाज में बैठने से पहले बोर्डिंग पास लेने का अनुभव प्राप्त किया है ?

ऐसे सवालों का उत्तर अभी भी ना में ही मिलता है । लेकिन अब मैं कहता हूं आप हर शाम, हफ्ते में एक दिन या महीने में तीन दिन हवाई जहाज की सैर कर एक घंटे में घर वापस लौट सकते हैं तो आश्चर्य चकित न होवें । अब आप बोर्डिंग पास लेकर जहाज में सवार होकर एयर होस्टेस की शानदार मेहमान नवाजी का आनंद लेकर मनपसन्द खाने का मजा भी ले सकेंगे ।

Airplane restorent in dehradun . first concept in uttarakhand . Rishabh Sharma . S. K. Rastogi and Reema देहरादून - हरिद्वार हाईवे के किनारे आंखों के सामने जब विशालकाय जहाज उतरा देखा तो खुद की आंखों पर यकीन करना मुमकिन न था, लेकिन जैसे-जैसे जहाज के नजदीक गया तो वहां देखा स्टाफ सहित अन्य सभी लोग स्वस्थ दिखे और वह सभी जहाज की मेन्टिनेंश में लगे थे । कोई जहाज के पंखों को ठीक करने में लगा था तो कोई कॉकपिट में तकनीकि यंत्रो की मरम्मत करते दिखाई दे रहे थे । उत्तराखंड के इतिहास में यह अपने आप में पहली घटना है । भारत में विशालकाय जहाज की ऐसी लैंडिंग अभी तक सिर्फ पंजाब और दिल्ली में हुई है । जबकि भारत के अलावा स्विट्जरलैंड में भी इस तरह की कुछ लैंडिंग हुई है । और अब यह करिश्मा उत्तराखंड के देहरादून में भी हो गया है । जिससे अब इस शानदार उपलब्धि के लिए दुनियाँभर में देहरादून का नाम सुर्खियां में आना स्वाभाविक है । फोटो में दिखाई दे रहे इस जहाज पर अब आप भी सवार हो सकेंगे, लेकिन ये आपको किसी मंजिल तक नहीं पहुंचा पाएगा ! बताते चलूं कि यह जहाज यहां से कभी भी उड़ान नहीं भरेगा । बल्कि यह आपका पेट भरेगा.. आपको आनन्द देगा । आपके रोमांच को बढ़ाएगा ! Shashi bhushan maithani paras . Youth icon national award .

और यह हवाई रेस्टोरेण्ट बना है देहरादून से हरिद्वार के बीच जोग्गीवाला फ्लाईओवर के पास GTM के एकदम बगल में । गजब के कॉन्सेप्ट को देख इंसानी दिमाग की तारीफ तो की ही जानी चाहिए । यह कॉन्सेप्ट उन लोगों के लिए महत्वपूर्ण होगा जो लोग अपने जीवन में अभी तक किन्ही भी कारणों से हवाई यात्रा का आनंद नहीं ले पाए हैं । अब ऐसे लोग इस जहाज पर पर बैठकर हवाई यात्रा की अनुभूति प्राप्त कर सकेंगे । सबसे बड़ी बात कि यह अभी तक का पहला ऐसा जहाज होगा जिसमें गढ़वाली व्यंजनों को परोशा जाएगा ।
बधाई के पात्र हैं ऋषभ शर्मा, एस. के. रस्तोगी और रीमा ।

Script : Shashi Bhushan Maithani Paras

9756838527 , 7060214681 

shashibhushan.maithani@gmail.com 

 

 

By Editor

7 thoughts on “देहरादून के रिहाइशी इलाके में सुरक्षित उतरा विशालकाय जहाज ! देश में है यह तीसरा मामला ।”

Comments are closed.