अमिताभ श्रीवास्तव, वरिष्ठ पत्रकार । youth icon national awardee delhi dehradun . Narendar modi . Akshay kumar . Prasoon joshi . Mumbai .

Youth icon yi media logo . Youth icon media . Shashi bhushan maithani paras

 

◆संपादकों को नेताओं के साक्षात्कार लेने की कला प्रसून जोशी और अक्षय कुमार से सीखनी चाहिए।

◆अक्षय कुमार ने प्रधानमंत्री से कहा-आप चाय बेचते थे, मैं वेटर था।

 

मोदी जी ने ट्विटर पर ट्विंकल खन्ना की सक्रियता का ज़िक्र छेड़कर अक्षय कुमार को इशारों इशारों में जता भी दिया कि उनकी नज़र सब तरफ रहती है। ज्योति कलश छलके उनका प्रिय गीत है यह भी पता चला। टेलीप्रांप्टर से पढ़ कर भाषण देने के आरोपों का भी मोदी जी ने चतुराई से खंडन कर दिया ।
नया दौर है, नया पाठक और दर्शक वर्ग उभर रहा है। संपादकों को नेताओं के साक्षात्कार लेने की कला प्रसून जोशी और अक्षय कुमार से सीखनी चाहिए। तमाम मीडिया स्कूल वैसे भी अब पत्रकारिता में कुछ नया सिखा नहीं रहे हैं।

 

अमिताभ श्रीवास्तव, वरिष्ठ पत्रकार । youth icon national awardee delhi dehradun
अमिताभ श्रीवास्तव, वरिष्ठ पत्रकार ।

जो दिलचस्प बातें बड़े बड़े संपादक इतना घनघोर पीआर करने के बावजूद नहीं निकलवा पाए, वह सब अक्षय कुमार ने एक घंटे से ज़्यादा की बातचीत में प्रधानमंत्री से कहलवा दीं। मसलन, उन्हें गुस्सा बिल्कुल नहीं आता, वे सख्त हैं यह छवि ग़लत है, वे मोह-माया से ऊपर उठ चुके हैं इसलिए अपनी मां को अपने साथ नहीं रखते, उनकी माताजी उनसे कोई पैसे की अपेक्षा नहीं करतीं। और पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से तो उनकी बातचीत तू-तड़ाक वाले अंदाज़ में होती है क्योंकि वे बहुत अच्छे दोस्त हैं।

प्रधानमंत्री जी ने बताया कि ओबामा मोदीजी से उनकी सिर्फ तीन-चार घंटे सोने की आदत के बारे में

अमिताभ श्रीवास्तव, वरिष्ठ पत्रकार । youth icon national awardee delhi dehradun . Narendar modi . Akshay kumar . Prasoon joshi . Mumbai .

पूछते हैं कि तू ऐसा क्यों करता है। अक्षय कुमार से बातचीत में पता चला कि मोदी जी को पांच बजे सुबह छत पर अकेले बैठ कर चाय पीना पसंद है। अक्षय ने पूछा आप बचपन में कोई खेल खेलते थे, तो प्रधानमंत्री जी ने बताया कि वे संघ की शाखाओं में जाया करते थे। हालांकि गुल्ली डंडा भी खेला है ऐसा बताया उन्होंने।

चुटकुलों का आदान-प्रदान भी हुआ। मोदी जी ने ट्विटर पर ट्विंकल खन्ना की सक्रियता का ज़िक्र छेड़कर अक्षय कुमार को इशारों इशारों में जता भी दिया कि उनकी नज़र सब तरफ रहती है। ज्योति कलश छलके उनका प्रिय गीत है यह भी पता चला। टेलीप्रांप्टर से पढ़ कर भाषण देने के आरोपों का भी मोदी जी ने चतुराई से खंडन कर दिया । उन्होंने कहा कि पढ़ कर बोलने की आदत नहीं है उन्हें।

नया दौर है, नया पाठक और दर्शक वर्ग उभर रहा है। संपादकों को नेताओं के साक्षात्कार लेने की कला प्रसून जोशी और अक्षय कुमार से सीखनी चाहिए। तमाम मीडिया स्कूल वैसे भी अब पत्रकारिता में कुछ नया सिखा नहीं रहे हैं।

By Editor