उत्तराखंड में दहशत ! जगह-जगह से आ रही हैं डरावनी तस्वीरें । ◆ सबसे ज्यादा नुकसान भारी जौनसार बावर क्षेत्र में जन जीवन अस्त व्यस्त । ◆ सोशल मीडिया व्हाट्सप पर कुछ लोग अफवाह भी फैला रहे हैं ।

Youth icon yi media logo . Youth icon media . Shashi bhushan maithani paras

उत्तराखंड में दहशत ! जगह-जगह से आ रही हैं डरावनी तस्वीरें ।

◆ सबसे ज्यादा नुकसान  जौनसार बावर क्षेत्र में जन जीवन अस्त व्यस्त ।

◆ सोशल मीडिया व्हाट्सप पर कुछ लोग अफवाह भी फैला रहे हैं ।

Abhay kaintura अभय कैंतुरा
◆ अभय कैंतुरा ।

बीते शनिवार शाम से रविवार तक हुई जोरदार बारिश ने सूबे के लोगों को एक बार फिर से दहशत में डाल दिया है । जब-जब आसमान के किसी कोने से बादलों की भीषण गर्जना होती है तो लोगों 2013 की विकराल आपदा याद जाती है । पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार जारी मूसलाधार बारिश ने अब लोगों को भयानक दहशत में डाल दिया है ।

बात चाहे गढ़वाल मंडल की हो या कुमायूं मंडल की सभी जगह बारिश की भयानक दहशत व कहर जारी है । अगस्त के दूसरे सप्ताह में चमोली जनपद के घाट विकासनगर, दशोली के मैठाणा , सैकोट, घुड़साल व रोपा से शुरू हुआ इंद्रदेव का प्रकोप अब उत्तरकाशी के विभिन्न क्षेत्रों में कहर बरपा गया । जिसके बाद क्षेत्र में सारा जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया । जनपद में हुई भीषण जल त्रासदी में कई लोगों की जान चली

उत्तराखंड में दहशत ! जगह-जगह से आ रही हैं डरावनी तस्वीरें । ◆ सबसे ज्यादा नुकसान भारी जौनसार बावर क्षेत्र में जन जीवन अस्त व्यस्त । ◆ सोशल मीडिया व्हाट्सप पर कुछ लोग अफवाह भी फैला रहे हैं ।

गई व कुछ लापता हो गए जबकि घायलों तक भी सरकारी मदद पहुंचाने में प्रशासन को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है । दूसरी ओर कुमायूं मंडल के तराई क्षेत्रों से भी विचलित करने वाले वीडियो व फोटो आ रहे हैं जहां तेज बहाव में फंसे वाहन दिखाई दे रहे हैं । ऐसे में वे लोग भी काफी हद तक जिम्मेदार हैं जो अपनी बहादुरी का परिचय देने के चक्कर में वाहनों को उफनते नालों में से पार करने की कोशिश में अन्य लोगों की जान के लिए खतरा बन जाते हैं । प्रकृति के साथ किसी भी तरह की चेष्टा भारी पड़ सकती है इसलिए सावधानी बरतना भी सबका दायित्व है ।

फेसबुक इस तरह की अफवाह भी कुछ लोग फैला रहे हैं । आप लोग बिल्कुल भी फेसबुक या व्हाट्सप पर आने वाली भ्रामक खबरों को फारवर्ड न करें । श्रीनगर गढ़वाल में सड़क बहने जैसी कोई भी सूचना नहीं है ।  अफवाहों पर ध्यान न दें ।
फेसबुक इस तरह की अफवाह भी कुछ लोग फैला रहे हैं । आप लोग बिल्कुल भी फेसबुक या व्हाट्सप पर आने वाली भ्रामक खबरों को फारवर्ड न करें । श्रीनगर गढ़वाल में सड़क बहने जैसी कोई भी सूचना नहीं है । अफवाहों पर ध्यान न दें ।

 

◆ खतरनाक स्थिति ! उत्तरकाशी घटनास्थल तक पहुंचना हो रहा मुश्किल :

उत्तरकाशी के आराकोट मोरी इलाके में पहुंचना बेहद मुश्किल हो रहा है । दरअसल यहां पहुंचने सभी मार्ग बुरी तरह से आपदा की भेंट चढ़ गए हैं । ऐसे में राहत एवं बचाव कार्यों में प्रशासन को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है । आज बारिश के थमे रहने तक राज्य कुछ वरिष्ठ अधिकारियों को टीम सहित क्षेत्र में हैलीकॉफ़टर से उतारा जा सका । इस बीच उत्तराखण्ड सरकार के चॉपर के मार्फ़त आराकोट आपदा में घायल हुए लोगों को एयरलिफ्ट देहरादून अस्पताल पहुंचाया गया है । मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत बराबर स्थिति पर नजर रखे हुए हैं ।

◆ उत्तरकाशी में करीब 13 गांव आपदा से हुए है प्रभावित :

उत्तरकाशी में करीब 13 गांव भीषण आपदा की चपेट में आ गए । इन गांवों से अभी तक 17 लोगों की दर्दनाक मौत की खबर की मिल रही है । आज सुबह से मोरी आराकोट क्षेत्र में आपदा सचिव अमित नेगी स्वयं जायजा ले रहे हैं । उनके साथ आईजी संजय गुंजयाल और डीएम आशीष चौहान भी मौजूद हैं ।

◆ मकोड़ी और दगोली में बनाएं गए हेलीपैड :

आपदा प्रभावितों को राहत पहुंचाने के मकोड़ी व दगोली में हेलीपैड बनाए गए हैं ताकि बचाव टीम के अलावा प्रभावितों तक जरूरी सामान यहां से तुरन्त भेजा जा सके । राहत व बचाव कार्य के लिए एयरफोर्स से भी मदद मांगी गई जिसके बाद सेना के हैलीकॉप्टर भी उत्तराखण्ड पहुंच चुके हैं ।

आपदा से संबंधित कुछ हाईलाइट्स सुबह से इस तरह अपडेट होती रहीं :

 

बारिश से क्षेत्र की 32 सड़कें हुई बन्द :

सड़को के बन्द होने से क्षेत्र के 120 गांव का संपर्क कटा विकासनगर से ।

◆ देहरादून भारी बारिश उफान पर नदियां, जिला प्रशासन अलर्ट पर ।

* नदी किनारे रह रहे लोगो को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के हो रहे प्रयास ।
* जिले में यमुना नदी का जल स्तर खतरे के निशान को के चुका पार,
* टोंस नदी भी चल रही खतरे से निशान से ऊपर,
* बिंदाल , रिस्पना , सोंग, नदियों में में बारिश के चलते बढ़ा जल स्तर,

◆ मौसम विभाग ने भारी बारिश को लेकर अलर्ट किया जारी :

अगले 24 घण्टे में हो सकती है भारी बारिश,
देहरादून उत्तरकाशी चमोली पिथोरागढ़ नैनीताल ओर पौड़ी जिले में हो सकती है भारी बारिश,
मौसम विभाग की चेतावनी कुछ स्थानों पर भारी बारिश से हो सकता है नुकशान ।

◆ उत्तरकाशी जिले के आराकोट में बादल फटने से हुई भारी तबाही,

* आपदा में अब तक 8 शव हुए बरामद , 17 अन्य के हताहत होने की आंशका, रेस्क्यू अभियान जारी ।

◆ उत्तरकाशी जिले के 47 हजार से ज्यादा लोग हुए आपदा में प्रभावित :

◆ खराब मौसम के कारण 24 घंटे बाद पंहुंचीं सरकारी मदद :

* उत्तरकाशी जिला मुख्यालय का दूंन से सम्पर्क कटा ।

* मलबा ओर पत्थर आने से गंगोत्री यमुनोत्री हाइवे समेत जिले के डेढ़ दर्जन मोटर मार्ग हुए अवरुद्ध ।

◆ भारी बारिश के चलते चार धाम यात्रा रोकी गयी,

800 यात्रीयों को बदरीनाथ धाम में ठहराया गया, जोशीमठ, पांडुकेश्वर, ओर गोविंदघाट में भी रोका गया श्रद्धालुओं को,

◆ बारिश की वजह से जगह जगह हुआ भूस्खलन,
चमोली – बारिश के चलते 19 सम्पर्क मार्ग ओर 200 पैदल रास्ते हुए क्षतिग्रस्त । अलकनंदा के कटाव से खतरे में मैठाणा गांव, सैकोट के आमखेत तोक में एक मकान गदेरे में बहा,

◆ आराकोट इंटर कॉलेज के ग्राउंड ओर बिल्डिंग को राहत और बचाव कार्य के लिए उपयोग में लाया जाएगा,

* एक हेलीकॉप्टर ने क्षेत्र में संचार होता को ट्रुथ करने वाले उपकरणों को पहुंचाया ।
* वायुसेना के चॉपर की भी ली जा रही है आपदा में रेस्क्यू के लिए मदद ।
* सहस्त्रधारा हेलीपैड से भी रेस्क्यू के लिए उड़ा एक हेलीकॉप्टर ।
* मोरी, नौगांव और पुरोला से तीन मेडिकल टीमों को आर अकोट के लिए किया गया रवाना ।

◆ उत्तरकाशी आराकोट में प्रकृति के कहर का मामला

◆ SDRF की टीम पहुँची प्रभावित इलाकों में

राहत और बचाव कार्य में जुटी SDRF की टीम

गंभीर घायलों को किया जा रहा है एयर लिफ्ट
दवाइयों के साथ ही भेजी जा रही आवश्यक सामग्री प्रभावित क्षेत्रों में
◆ मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत कर सकते है जल्द प्रभावित क्षेत्रों का दौरा । 

◆ 4 घायलों को हैली से हायर सेंटर रैफर । 
दो घायल व्यक्ति हेलीकॉप्टर से आए हैं जिन्हें 108 के माध्यम से दून अस्पताल भिजवाया गया है नाम नाम आलम सिंह s/o माधव सिंह राजेंद्र सिंह s/o मोहर सिंह निवासी चकराता

◆ आपदा सचिव अमित नेगी आईजी संजय गुंज्याल पहुंचे आराकोट ।

By Editor