Babaal :  देहरादून में जमकर बबाल पुलिस ने किया लाठीचार्ज । दो समुदाय के लोग हुए आमने-सामने ।

Logo Youth icon Yi National Media HindiBabaal :  देहरादून में जमकर मचा बबाल पुलिस ने किया लाठीचार्ज । दो समुदाय के लोग हुए आमने-सामने ।

  • करीब साढ़े चार घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस ने ली राहत की सांस ।

  • मामला अलग-अलग धर्म के युवक युवती के प्रेम प्रसंग का था ।

Shashi Bhushan Maithani ‘Paras’

देहरादून, यूथ आइकॉन मीडिया । उत्तराखंड की अस्थाई राजधानी देहरादून में सोमवार की शाम जमकर बबाल मचा । नौबत यहाँ तक आई कि पुलिस को आपस में भिड़े दो समुदायों के गुटों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज भी करना पड़ा । आरोप था कि एक मुस्लिम युवक ने पंजाबी/हिन्दू युवती को बहला फुसलाकर उसके घर से भगाया है । बताया गया कि दोनों युवक-युवती में पहले प्रेम प्रसंग हुआ फिर उसके बाद दोनों ने अपनी मर्जी से निकाह भी कर लिया था । और अब कोर्ट में भी अर्जी लगाई है ऐसा युवक का कहना है । यह दोनों विगत कई दिनों से साथ-साथ लड़के के घर पर ही रह रहे थे ।  

Babaal :  देहरादून में जमकर बबाल पुलिस ने किया लाठीचार्ज । दो समुदाय के लोग हुए आमने-सामने ।
देहरादून में जमकर बबाल पुलिस ने किया लाठीचार्ज । दो समुदाय के लोग हुए आमने-सामने ।

इस बात से हिन्दू समुदाय के लोग काफी दिनों से गुस्से में थे । और वह कई दिनों से इन दोनों को अलग करने की कोशिस भी कर रहे थे । मुस्लिम युवक तनवीर ने यूथ आइकॉन मीडिया से बातचीत में बताया कि वह आज सोमवार की शाम राजीव नगर मंदिर के पास एक दुकान से अपना मोबाईल फोन ले रहा था तो तभी कुछ लोग अचानक से आए और उन्होने उस पर हमला कर दिया था, जिसके बाद वह लोग उसे पकड़कर आराघर पुलिस रेपोर्टिंग चौकी में ले आए । तनवीर ने बताया कि हमला करने वाले लोग बजरंगदल के थे । देखते ही देखते कुछ ही पलों में माहौल बेहद तनावपूर्ण हो गया था । करीब सवा आठ बजे तक भारी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोगों का जमावड़ा आराघर पुलिस चौकी में लग गया जिससे स्थित गंभीर होते देख शहरभर के सभी थानों की पुलिस कोतवालों, दरोगाओं व वरिष्ठ अधिकारियों ने भी तुरंत आराघर पुलिस चौकी का रुख किया । रात के करीब 9 बजे  दोनों ही समुदाय के लोग आमने-सामने थे भारी हो हल्ला मचा हुआ था तो बीच में भारी पुलिस बल तैनात था इस बीच एक युवक ई0सी0 रोड स्थित पुलिस चौकी गेट से अंदर आया जिसके गले में भगवा साफा था तभी अचानक से दूसरे समुदाय की भीड़ उस पर टूट पड़ी जैसे ही पुलिस ने उसे उग्र भीड़ के चंगुल से अलग करने का प्रयास किया तो भारी संख्या में लोग चौकी के अंदर घुस आए और जमकर बबाल काटने लगे फिर पुलिस ने ताबड़तोड़ लाठीचार्ज कर हुड़दंगियों को चौकी से बाहर खदेड़ा । उक्त पूरे घटनाक्रम का वीडियो मेरे द्वारा मौके पर बनाया गया है, जो कि सिर्फ और सिर्फ यूथ आइकॉन के पास मौजूद है । बाद में ढाई घंटे बाद मौके पर पहुंचे अन्य लोगों ने भी यूथ आइकॉन से ही विजुअल प्राप्त किए । 

उक्त घटना से संबन्धित Exclusive सभी वीडियो देखने के लिए आप नीचे दिये गए वीडियो को क्लिक करें । या हमारे यू-ट्यूब चैनल Youth icon TV News Views पर विस्तार से देखें ।

इस दौरान एस0पी0 सिटी प्रदीप राय, ए0डी0एम0 प्रशासन अरविंद पाण्डेय, ए0डी0एम0 सदर प्रत्युष सिंह, आई0पी0एस0 लोकेश, शहर कोतवाल वी0बी0डी0 जुयाल, डालनवाला कोतवाल यशपाल बिष्ट, कैंट कोतवाली इंसपैक्टर शंकर बिष्ट, आराघर रेपोर्टिंग चौकी इंचार्ज महिपाल सिंह रावत, के अलावा हिन्दू संगठन से विकास शर्मा, कुलदीप, आनंद सिंह, स्वामी दर्शन भारती जबकि मुस्लिम संगठन की ओर से समाजसेवी रईश फातिमा, केशर जहां एवं आजाद अली आदि सभी लोगों ने बेहद ज़िम्मेदारी पूर्वक सकारात्मक बातचीत कर शहर के माहौल को बिगड़ने से बचाने के अलावा एक बड़ी घटना को होने से भी रोका है ।
एस0पी0 सिटी प्रदीप राय, ए0डी0एम0 प्रशासन अरविंद पाण्डेय, ए0डी0एम0 सदर प्रत्युष सिंह, आई0पी0एस0 लोकेश, शहर कोतवाल वी0बी0डी0 जुयाल, डालनवाला कोतवाल यशपाल बिष्ट, कैंट कोतवाली इंसपैक्टर शंकर बिष्ट, आराघर रेपोर्टिंग चौकी इंचार्ज महिपाल सिंह रावत, के अलावा हिन्दू संगठन से विकास शर्मा, कुलदीप, आनंद सिंह, स्वामी दर्शन भारती जबकि मुस्लिम संगठन की ओर से समाजसेवी रईश फातिमा, केशर जहां एवं आजाद अली आदि सभी लोगों ने बेहद ज़िम्मेदारी पूर्वक सकारात्मक बातचीत कर शहर के माहौल को बिगड़ने से बचाने के अलावा एक बड़ी घटना को होने से भी रोका है ।

दूसरी ओर मुस्लिम समुदाय के लोगों का कहना था कि तनवीर ने सुमन (बदला हुआ नाम) को भगाया नहीं बल्कि इन दोनों में कई लंबे समय से अफेयर चल रहा था और बाद में दोनों ने अपनी मर्जी से शादी भी कर ली थी । तनवीर ने बताया कि उसकी उम्र 22 वर्ष है जबकि सुमन की उम्र 20 तो इस लिहाज से भी दोनों बालिग हैं । मुस्लिम समुदाय के लोग इस बात पर अड़े रहे कि पहले लड़की को सामने लाया जाय और उससे सच्चाई पूछी जाय । लेकिन लड़की पुलिस चौकी नहीं आई तो प्रशासन की ओर से एक टीम फिर उसके बयान लेने लड़की के पास गई जहां उसने बताया कि वह अब अपने माता-पिता के साथ ही रहना चाहती है । तब जाकर यह मामला रात के 12 बजे शांत हुआ ।   

लेकिन इस पूरी घटना के बीच यह सबसे अच्छी बात रही कि समाजसेवी रईश फातिमा व केशर जहां ने बेहद ही रचनात्मक भूमिका निभाई । फातिमा ने इस बात पर खुशी जाहीर की और कहा कि वह लड़की अपने माँ बाप के साथ ही रहना चाहती है, और यही बात  वह तनवीर और सुमन को भी पिछले कई दिनों से समझा रही थी कि इस तरह से शादी करना ठीक नहीं है , जिसमें हमेशा दोनों को तनाव ही मिले । दोनों पक्षों के बीच मामला घंटो चली लम्बी बातचीत के बाद ही शांत हुआ ।

घंटो तक चलता रहा बबाल
घंटो तक चलता रहा बबाल

इस दौरान एस0पी0 सिटी प्रदीप राय, ए0डी0एम0 प्रशासन अरविंद पाण्डेय, ए0डी0एम0 सदर प्रत्युष सिंह, आई0पी0एस0 लोकेश, शहर कोतवाल वी0बी0डी0 जुयाल, डालनवाला कोतवाल यशपाल बिष्ट, कैंट कोतवाली इंसपैक्टर शंकर बिष्ट, आराघर रेपोर्टिंग चौकी इंचार्ज महिपाल सिंह रावत, के अलावा हिन्दू संगठन से विकास शर्मा, कुलदीप, आनंद सिंह, स्वामी दर्शन भारती जबकि मुस्लिम संगठन की ओर से समाजसेवी रईश फातिमा, केशर जहां एवं आजाद अली आदि सभी लोगों ने बेहद ज़िम्मेदारी पूर्वक सकारात्मक बातचीत कर शहर के माहौल को बिगड़ने से बचाने के अलावा एक बड़ी घटना को होने से भी रोका है ।

  • शशि भूषण मैठाणी ‘पारस’  9756838527 , 7060214681 Logo Youth icon Yi National Media Hindi

By Editor