SOnal Verma . Shashi bhushan maithani . Sushil kumar singh . Youth icon award

गुजरात और छतीशगढ़ के बाद उत्तराखंड में भी अलग से गठित हुआ यूथ आइकॉन नेशनल अवार्ड उत्तराखंड चैप्टर ।

SOnal Verma . Shashi bhushan maithani . Sushil kumar singh . Youth icon award
नव निर्वाचित एवं उत्तराखंड चैप्टर की पहली महिला  अध्यक्ष सोनल वर्मा का स्वागत करते हुए ज्यूरी कमेटी के वरिष्ठ सदस्य व साथ में मौजूद हैं यूथ आइकॉन के फाउंडर शशि भूषण मैठाणी पारस ।

वर्ष 1992 में सीमांत जनपद चमोली से कला प्रदर्शन-प्रतिभा दर्शन “के.पी.पी.डी.” नाम से और वर्ष 2008 में देहरादून से के.पी. पी. डी. यूथ आइकॉन वाई. आई. नेशनल अवार्ड के नाम से दिया जाने वाला राष्ट्रीय सम्मान का अब देशभर के अलग अलग राज्यों में विस्तार देने के क्रम में अब गुजरात, छतीशगढ़ के बाद उत्तराखंड राज्य का भी अलग चैप्टर का गठन कर लिया गया है ।

संस्थापक शशि भूषण मैठाणी पारस , संरक्षक पद्मश्री डॉ. आर. के. जैन और अध्यक्ष डॉ0 महेश कुड़ियाल पूर्व में ही नेशनल कमेटी में मनोनीत किए गए हैं ।
जबकि अब हुए चुनाव में उत्तराखंड चैप्टर में अध्यक्ष पद के लिए मसहूर भरतनाट्यम नृत्यांगना सोनल वर्मा को सर्वाधिक वोट मिले दूसरे और तीसरे नंबर पर क्रमशः दून इण्टर नेशनल स्कूल के उप- प्रधानाचार्य दिनेश बर्त्वाल व समाजसेविका सुनीता पाण्डेय को उपाध्यक्ष पद के लिए चुना गया । वोटिंग में कुल 55 सदस्यों ने प्रतिभाग किया था ।
जनतांत्रिक तरीके से हुए चुनाव के बाद संस्थापक शशि भूषण मैठाणी व कमेटी के वरिष्ठ सदस्य एवं संयोजक शिक्षाविद सुशील कुमार सिंह , अतुल बर्तरिया , जगमोहन मेंदीरत्ता ने नव-निर्वाचित पदाधिकारियों का सम्मान कर उन्हें उनके पदों पर सुशोभित किया । साथ इस अवसर पर नए जुड़े सदस्यों का भी स्वागत किया गया ।

संस्थापक शशि भूषण मैठाणी पारस ने बताया कि अगले तीन सालों के अंदर देशभर में 12 राज्यों के चैप्टर बनाए जाने की दिशा में काम हो रहा है और आज उसी क्रम में गुजरात , छतीशगढ़ के बाद आज उत्तराखंड चैप्टर का भी गठन हो गया है ।
शशि भूषण मैठाणी ने कहा कि अलग अलग चैप्टर बनाने के पीछे का मकसद इतना मात्र है कि इस सम्मान में पारदर्शिता रहे और हर राज्य में मौजूद प्रतिभाशाली व उत्कृष्ट व्यक्तित्व के धनी व्यक्तियों का सम्मान होता रहे जिससे समाज में युवाओं को प्रेरित भी किया जा सके । श्री मैठाणी ने कहा कि यूथ आइकॉन अवार्ड योग्यता के आधार पर दिया जाता है जिसमें कि कहीं से भी व्यावसायिक मकसद नहीं रहता है और यह बात हर चैप्टर को भी समझनी होगी । मैठाणी ने आगे कहा कि सम्मान समारोज जन सहयोग से ही किया जाता है । और हर सदस्य यह कोशिश करें कि यदि कोई संस्था या संस्थान हमें मदद करना चाहते हैं तो पहले कोशिश यह हो कि सहयोग कैश या चैक के बजाय काइंड यानी मद में हो जिससे पारदर्शिता बनी रहेगी । हमारा मकसद धन एकत्रित करना न होकर समाज में सकारात्मक व रचनात्मक कार्यों का सम्पादन होना चाहिए । आने वाले दिनों में ज्यादा से ज्यादा बौद्धिक एवं रचनात्मक लोगों को यूथ आइकॉन उत्तराखंड चैप्टर से जोड़े जाने दिशा में काम किया जाएगा ।

इस मौके पर शालिनी कुड़ियाल, कुमकुम जैन, अनिल सती, वरुण शर्मा , राज कौशिक, अवनीश मलासी, मुकेश सारस्वत, तनुश्री डिमरी, सौरभ सैनी, स्तुति पाण्डेय सहित अन्य लोग मौजूद रहे ।

।।।।।।।।।।।।।।।

गुजरात और छत्तीसगढ़ के बाद अब उत्तराखंड में यूथ आइकॉन नेशनल अवार्ड उत्तराखंड चैप्टर का हुआ गठन ।
Shashi Bhushan Maithani Paras . Founder Youth icon National award . Uttarakhand .

By Editor