Youth icon Yi National Creative Media Report
Youth icon Yi National Creative Media Report

Gandi bat : शिक्षक जो महिलाओं को छेड़ता है ! अब तक हो चुकी है 6 अलग-अलग घटनाएँ …! 

Report By: Rajan Mishra, Youth icon Yi Report
Report By: Rajan Mishra,
Youth icon Yi Report

जी हाँ …! एक गुरुजी हैं जो अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं । और हरकते भी ऐसी कि पूरा का पूरा महकमा बार-बार शर्मसार हो रहा है । जनाब पूर्व में भी 6 महिलावों के साथ अश्लील हरकतें कर चुके हैं जिससे परेशान महिलाओं ने अलग-अलग समय पर इस मास्टर की शिकायत भी दर्ज कारवाई और 6 के 6 मामलों में जांच भी हुई है, और पता चला की सभी जांचे सही भी पाई गई जिसके एवज में मास्टर साहब की हर जांच के बाद तबाबदले रूप में ठिकाने बदलते गए । पर मास्टर साहब कहां सुधरने वाले थे ! जनाब हैं कि सुधरने के बजाय और बिगड़ते जा रहे हैं । कोई छोटा बच्चा हो तो कान मरोड़कर या हथेली में एक दो बार डंडी फटेलकर डराया या फिर समझाया भी जाय, लेकिन इस अधेड़ उम्र के मास्टर जिस पर दूसरों को राह दिखाने का जिम्मा हो, तो भला ऐसे में इन साहब को कौन समझाए !

जनाब पूर्व के 6 मामलों के बाद 7 वें मामले के साथ अब एक बार फिर से चर्चा में आ गए हैं । ताजा मामला है कोटद्वार थाने का जहां पेशे से शिक्षक इस व्यक्ति पर फिर अश्लील हरकत, व छेड़-छाड़ करने के संबंध में एक और महिला द्वारा शिकायती अर्जी दाखिल की हुई है । वह बात अलग है कि वहां की पुलिस लिखित शिकायत के बाद भी मामला दर्ज करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही है । जाहिर सी बात है कि मास्टर जी के हाथ कानून से भी लंबे होंगे जिनके आगे पुलिस भी साहस नहीं जुटा पा रही है ।

कोटद्वार कोतवाली जहां पीड़ित महिला ने दी है लिखित शिकायत ।
कोटद्वार कोतवाली जहां पीड़ित महिला ने दी है लिखित शिकायत ।

अफशोस कि शिक्षक जैसे गरिमामय पद पर होने के बावजूद अपने ही विभाग में तैनात महिलाओं के साथ अभद्रता, छेड़खानी समेत अश्लील वीडियो बनाकर तंग करनें के छह मामले जिस पर दर्ज हैं, बाबजूद वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आता है तो जाहिर सी बात है कि इससे बीमारू और लाचार सिस्टम की कलई भी खुलकर लोगों के सामने आ रही है । बताया गया कि इस मास्टर के ऊपर पूर्व में भी 6 शिकायतें दर्ज हुई हैं लेकिन हर मर्तबा इसका ट्रांसफर कर विभाग अपनी ज़िम्मेदारी से पल्ला झाड़ देता है ।

दुगड्डा ब्लाक में तैनात इस शिक्षक की कारस्तानियों की यह बानगी भर है । इस बार तो इन महासय नें अपनी कारस्तानियों का सीधा शिकार दुगड्डा ब्लाक में तैनात एक महिला शिक्षा अधिकारी को बनाया है। महिला नें विभाग में अधिनस्थ शिक्षक के खिलाफ तहरीर कोटद्वार थानें में दी है ।  जिसमें महिला ने छेड़छाड़, अश्लील हरकतें करने व धमकी देने के आरोप शिक्षक पर लगाए है ।  महिला की शिकायत के बावजूद मामला राजनीतिक तौर पर इतना प्रभावित है कि चार दिन बीत जानें के बाद भी जांच के नाम पर पुलिस नें आरोपी से पूछताछ तक नही की है ।  इसे राजनीतिक दबाव कहें या प्रशासनिक अमले की नाकामी कि मामला महिलाओं से छेड़छाड का होनें के कारण गैर जमानती श्रेणी का बनता है उसके बावजूद भी आरोपी से अब तक पुलिस पूछताछ तक करने तक की हिम्मत नही जुटा पा रही है ।

इस मामले में जब हमने शिक्षक संघ दुगड्डा के ब्लाक मंत्री नवीन पुण्डीर से बात की तो उन्होने इस मामले को गंभीर बताते हुए कहा कि पूरा शिक्षक संघ महिला के साथ खड़ा है, चाहे राजनीतिक तौर पर कितनी भी कोशिसें क्यों न की जाए शिक्षक संघ महिला के साथ है । साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि प्रशासन द्वारा अगर जल्द ही मामले में कोई ठोस कार्यवाही नही की गई तो शिक्षक संघ फिर शीघ्र ही आगे की रणनीति पर काम करेगा और दोषी को सजा दिलाकर रहेगा ।

कुलमिलाकर शिक्षक के कुकृत्यों से तो ईलाके व महकमे के लोग तो पहले से ही भली भांति परिचित हैं पर सवाल यह कि जो सफेदपोश नेता इस आरोपी शिक्षक को बचाने में अंदर खाने से पूरा ज़ोर लगाए हुए है, वह नेता इस शिक्षक के सहारे क्या और कौन सी राजनीतिक हैसियत हासिल करना चाहता है । ऐसे में शिक्षक के अलावा सफेदपोश नेता के चरित्र पर भी दाग लगने लाज़मी हैं ।

*राजन मिश्रा 

Copyright: Youth icon Yi National Media, 13.06.2016

यदि आपके पास भी है कोई खास खबर तो, हम तक भिजवाएं । मेल आई. डी. है – shashibhushan.maithani@gmail.com   मोबाइल नंबर – 7060214681 , और आप हमें यूथ आइकॉन के फेसबुक पेज पर भी फॉलो का सकते हैं ।  हमारा फेसबुक पेज लिंक है  –  https://www.facebook.com/YOUTH-ICON-Yi-National-Award-167038483378621/  

By Editor

3 thoughts on “Gandi bat : शिक्षक जो महिलाओं को छेड़ता है ! अब तक हो चुकी है 6 अलग-अलग घटनाएँ …! ”
  1. ऐसे और भी शिक्षक हैं हालात यह हैं कि हम कुछ नहीं कर पा रहे हैं ।
    शिक्षा और शिक्षक दोनों का ही पतन हो रहा है।

  2. 6 मामले दर्ज होना और कुकर्मी शिक्षक का नाम न होना भी आश्चर्य पैदा करता है। लेकिन विभाग क्यों चुप है क्यों नहीं इसको नोकरी से निकाला जाता है?

Comments are closed.