Youth icon yi Media logoHaushlon ki udan : पलायन की आंधी के बीच हौसलो की उड़ान ।

*स्वरोजगार की अलख जगाता एक युवा ।

Jitendra Joshi, Yi Report Satpuli Pauri
Jitendra Joshi,
Yi Report Satpuli Pauri

सतपुली । रोजगार का हवाला देकर पहाड़ से बड़े शहरो की ओर पलायन करने वाले युवाओ के लिए पौड़ी के नैनीडांडा ब्लाक का मनीष

पौड़ी के नैनीडांडा ब्लाक का मनीष सुन्दरियाल किसी रोल माॅडल से कम नहीं है ।
पौड़ी के नैनीडांडा ब्लाक का मनीष सुन्दरियाल किसी रोल माॅडल से कम नहीं है ।

सुन्दरियाल किसी रोल माॅडल से कम नहीं है । नौकरी की बजाय स्वरोजगार को तरजीह देने वाले इस पोस्ट ग्रेजुएट युवा ने कुटीर उद्योग के माध्यम से जहां खुद को आर्थिक रुप से सुदृढ़ किया वहीं 350 क्षेत्रिय ग्रामीणो को भी रोजगार मुहैया कराया ।

करीब डेढ़ दशक पूर्व नैनीडांडा ब्लाक के डुंगरी गांव निवासी विजय सुन्दरियाल ने सरकारी नौकरी से इस्तीफा देकर सुंदरियाल प्रोडक्शन की नींव रखी थी । मनीष ने अपने पिता द्वारा स्थापित कुटीर उद्योग से जुड़कर सुन्दरयिाल प्रोडक्शन को नई बुलंदियों तक पहुंचाया और आज सुन्दरियाल प्रोडक्शन के उत्पादो की मांग राज्य के अलावा दिल्ली, मुम्बई, चण्डीगढ आदि शहरो तक में हैं । जीएमपी व आईएसओ प्रमाणित सुन्दरियाल प्रोडक्शन के बुरांश, मल्टा, लीची, आंवला शरबत, फ्रूट जैम ,आचार आदि उत्पाद सीधे तौर पर विश्वस्तरीय कंपनीयो को टक्कर देते है । चकबंदी के पैरोकर मनीष क्षेत्रिय किसानो से फसल खरीदने के साथ साथ ग्रामीणो को खेती, उद्यानीकरण व कुटीर उद्योग शुरु करने के लिए प्रेरित भी करते है । मनीष बताते है कि सरकार राज्य के पहाडी क्षेत्रो मे

 पोस्ट ग्रेजुएट युवा ने कुटीर उद्योग के माध्यम से जहां खुद को आर्थिक रुप से सुदृढ़ किया वहीं 350 क्षेत्रिय ग्रामीणो को भी रोजगार मुहैया कराया ।
पोस्ट ग्रेजुएट युवा ने कुटीर उद्योग के माध्यम से जहां खुद को आर्थिक रुप से सुदृढ़ किया वहीं 350 क्षेत्रिय ग्रामीणो को भी रोजगार मुहैया कराया ।
जीएमपी व आईएसओ प्रमाणित सुन्दरियाल प्रोडक्शन के बुरांश, मल्टा, लीची, आंवला शरबत, फ्रूट जैम ,आचार आदि उत्पाद सीधे तौर पर विश्वस्तरीय कंपनीयो को टक्कर देते है ।
जीएमपी व आईएसओ प्रमाणित सुन्दरियाल प्रोडक्शन के बुरांश, मल्टा, लीची, आंवला शरबत, फ्रूट जैम ,आचार आदि उत्पाद सीधे तौर पर विश्वस्तरीय कंपनीयो को टक्कर देते है ।

रोजगार पैदा करने मे पुर्णतः विफल रही जिसके कारण पहाड़ का युवा 16 वर्षो से पलायन की राह पर है। राज्य की औद्योगिक नीति लघु व कुटीर उद्यामियो के मुफीद नहीं है । मनीष ने बताया की अगर सरकार कुटीर उद्योग के लिए ठोस नीति बनाये और पहाड़ के युवा भी स्वारोजगार की राह पर चले तो पहाड़ की तस्वीर बदल सकती है।         

 

*डॉ0 जितेंद्र जोशी

Copyright: Youth icon Yi National Media, 11.08.2016

यदि आपके पास भी है कोई खास खबर तोहम तक भिजवाएं । मेल आई. डी. है – shashibhushan.maithani@gmail.com   मोबाइल नंबर – 7060214681 , 9756838527  और आप हमें यूथ आइकॉन के फेसबुक पेज पर भी फॉलो का सकते हैं ।  हमारा फेसबुक पेज लिंक है    https://www.facebook.com/YOUTH-ICON-Yi-National-Award-167038483378621/

यूथ  आइकॉन : हम न किसी से आगे हैंऔर न ही किसी से पीछे ।

By Editor

7 thoughts on “Haushlon ki udan : पलायन की आंधी के बीच हौसलो की उड़ान ।”
  1. प्रदेश के लिए महत्वपूर्ण व्यक्ति

  2. I also want to do something but what i don’t know. But there are a very good idea by sundriyal ji so pls if ur wish pls share his contact no i am also do something

Comments are closed.