65 की मौत 182 घायल ! खुशियां बदली मातम में । मौत का आंकड़ा अभी और अधिक बढ़ने की संभावना । घायलों को एम्बुलेंस से भिजवाया अस्पताल ।

Youth icon yi media logo . Youth icon media . Shashi bhushan maithani paras

50 की मौत 100 घायल ! खुशियां बदली मातम में । मौत का आंकड़ा अभी और अधिक बढ़ने की संभावना । घायलों को एम्बुलेंस से भिजवाया अस्पताल ।

चारों तरफ खुशी का माहौल था मेजबानों द्वारा अपने मेहमानों का स्वागत सत्कार किया जा रहा था । मेहमान खुशी में झूम रहे थे तो, शादी में बने लज़ीज़ व्यंजनों का स्वाद चख रहे थे तो कुछ लोग शादी समारोह से वापस सोने के लिए लौट रहे थे । लेकिन पलभर सारी खुशियाँ को ग्रहण लग गया । नाचते गाते खुशी में झूमते लोगों के बीच चीख पुकार मच गई । वापस जा रहे लोग शोर सुन वेडिंग प्वाइंट में लौटे तो वहां का मंजर देख सभी सन्न रहे गए । जो लोग पल भर पहले नाच गया रहे थे वो अब चीथड़े – चीथड़े लांशों के टुकड़ों में बंट गए थे । कई लोग बिना हाथ पैर के छटपटा रहे थे तो कुछ मदद की पुकार कर रहे रहे थे ।

65 की मौत 182 घायल ! खुशियां बदली मातम में । मौत का आंकड़ा अभी और अधिक बढ़ने की संभावना । घायलों को एम्बुलेंस से भिजवाया अस्पताल ।

यह विभत्स हादशा हुआ है अफगानिस्तान की राजधानी काबुल शहर के पश्चिमी इलाके के एक वेडिंग प्वाइंट में । इस इलाके में अल्पसंख्यक हजारा समुदाय के लोग अधिक संख्या में रहते हैं ।

विभिन्न समाचार संस्थानों के हवाले से आ रही खबरो
के मुताबिक इस घटना में मरने वालों की संख्या 65 के ऊपर व घायलों की संख्या 179 से ऊपर जा सकती है ।

यह घटना अफगानिस्तान के काबुल के पश्चिम इलाके के एक वेडिंग प्वाइंट में। शनिवार रात करीब 10 बजकर 40 मिनट पर घटी । प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सबसे पहले हॉल में जोरदार धमाका हुआ जिसके बाद चारों ओर धुंआ भर गया और चीखने चिल्लाने की आवाजें आने लगी । कुछ ही पल में चारो तरफ लांशे बिखर गई और खून ही खूंन फैल गया था ।

गृह मंत्रालय की प्रवक्ता के अनुसार अभी जान गंवाने वालों का सही आंकड़ा बताना अभी बिल्कुल भी संभव नहीं । विभिन्न मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस शादी समारोह में हुए आत्मघाती बम हमले में कम से कम 65 लोग मारे गए ओर 180 लोग घायल हो गए हैं ।

10 दिन पहले भी यानी 7 अगस्त को इस क्षेत्र में ही अफगान सुरक्षा बलों को तालिबानियों ने निशाना बनाया था जिनमें 14 लोग मारे गए जबकि 145 घ्याल हुए थे । तब यह धामाका कार बम से किया गया था । इस धामाके में महिलाएं व बच्चे ज्यादा मरे व घायल हुए थे ।
ऐसे में अब अमेरिका तालिबान के साथ शांति समझौते के मसौदे पर आगे बढ़ने की जो कोशिश कर रहा है क्या वह परवान चढ़ेगी । फिलहाल तालिबान के एक के बाद एक विभत्स हमलों के बीच तो यही लगता है कि तालिबान की मंशा कुछ और ही है । अब देखना यह दिलचष्प होगा कि इस घटना के बाद अमेरिका का रुख क्या रहता है ।

राष्ट्रपति अशरफ गनी के प्रवक्ता सादिक सिद्दीकी ने टि्वटर पर कहा, ‘काबुल में एक वेडिंग हॉल में आत्मघाती हमले की खबर से बहुत दुखी हूं। हमारे लोगों के खिलाफ एक जघन्य अपराध, यह कैसे मुमकिन है कि किसी व्यक्ति को प्रशिक्षण दो और उसे एक शादी में जाकर खुद को उड़ाने के लिए कहो।’

By Editor