Youth icon Yi National Creative Media Report, 3.04.2016
Youth icon Yi National Creative Media Report, 3.04.2016

धरा गया मास्टर माईण्ड, एसओजी टीम को मिली बड़ी सफलता !

देहरादून, भारतीय वायु सेना से (से0नि0)  7A मोहिनी रोड निवासी डी0 एस0 तोमर ने 28 सितम्बर 2015 को थाना डालनवाला में एक लिखित तहरीर दी थी ।  जिसमें उन्होने आरोप लगाया था कि  श्रीमती अंजलि व 14 अन्य लोगों द्वारा उनके   साथ धोखाधड़ी करके बीमा पॉलिसी करवाई गई  व  साथ ही बोनस का लालच देकर 37.258 लाख रुपयों की ठगी भी की गई है ।

मुख्य अभियुक्त शैलेश कुमार पांडे
मुख्य अभियुक्त शैलेश कुमार पांडे

पीड़ित द्वारा थाने मे दर्ज शिकायत के आधार पर मुकदमा अपराध संख्या 225/15 धारा 420 ipc व 66 A,B,C/66 D IT ACT बनाम श्रीमती अंजलि आदि पर पंजीकृत किया गया। तदुपरान्त मामले कि गहनता से पड़ताल की गई । पुलिस द्वारा की गई  विवेचना के दौरान जो बात सामने आई  उसमे पाया गया कि अंजलि व उसके अन्य साथियों द्वारा कई लोगों  को  पॉलिसी कराने के संदर्भ मे फोन किए जाते हैं व उन्हे कम समय मे मोटी रकम वापसी का भी लालच दिया जाता है । इस दरमियान  जो व्यक्ति इनके झांसे में आ जाता है उसको पॉलिसी व अन्य बोनस का लाभ का लालच देकर कई फर्जी बैंक खातों में पैसे डलवाए जाते हैं । बैंको मे पैसा जमा हो जाने पर शातिर गिरोह के सभी सदस्य तुरंत अपना मोबाईल नंबर बदल लेते थे । यहाँ बताते चलें कि शिकायतकर्ता मोहनी रोड निवासी डी0 एस0 तोमर (पीड़ित) द्वारा कुल 8 बैंक खातों में पैसे जमा किए गए थे जबकि कुछ पैसा बैंक ड्राफ्ट के द्वारा फर्जी बीमा कंपनी के सदस्यों को दिया गया था । आरोपियों ने पीड़ित को कुल 37.258 लाख का चुना लगाया ।

जांच  के दौरान पाया गया  कि मोंटेज क्लब प्राइवेट लिमिटेड डी-31 फस्ट फ्लोर सेक्टर 7 नोएडा के मालिक शैलेश कुमार पांडे पुत्र शेषनाथ पांडेय निवासी एफ 70 पुलिस स्टाफ क्वार्टर गीता कॉलोनी नई दिल्ली के बैंक खाता में 9.498 लाख रुपए जमा हुए थे । इसी क्रम मे  दिनांक 2 अप्रेल 2016  को नोएडा स्थित शैलेश कुमार पांडे के कार्यालय में पुलिस पार्टी गई तो वहां पर जतिन शर्मा उक्त कंपनी का फील्ड ऑफिसर मौजूद मिला, जिससे पुलिस ने कड़ी पूछताछ की तो उसके द्वारा पुलिस को  बताया गया कि इस कार्यालय  से विभिन्न प्रान्तों के ग्राहकों को फर्जी बीमा पॉलिसी करवाने व बोनस का लालच देकर फोन किए जाते हैं ।

एस एस पी देहरादून सदानंद दाते ने एसओजी टीम को गिरोह के सरगना को पकड़ने के लिए शाबासी देते हुए यह कहा है कि अभी इस पर बहुत काम करना बाकी है । भले ही मास्टर माईण्ड हमारी टीम कि मेहनत के चलते पुलिस कि गिरफ्त मे आ गया हो पर अभी इस फर्जीवाड़े को जड़ से समाप्त करना हमारा मुख्य उद्देश्य है । एस एस पी ने कहा कि बहुत जल्दी अन्य आरोपियों को भी टीम दबोच लेगी ।
एस एस पी देहरादून सदानंद दाते ने एसओजी टीम को गिरोह के सरगना को पकड़ने के लिए शाबासी देते हुए यह कहा है कि अभी इस पर बहुत काम करना बाकी है । भले ही मास्टर माईण्ड हमारी टीम कि मेहनत के चलते पुलिस कि गिरफ्त मे आ गया हो पर अभी इस फर्जीवाड़े को जड़ से समाप्त करना हमारा मुख्य उद्देश्य है । एस एस पी ने कहा कि बहुत जल्दी अन्य आरोपियों को भी टीम दबोच लेगी ।

पुलिस टीम ने तुरंत मौके से  कार्यालय में स्थित कंप्यूटर फोन आदि कब्जे में ले लिए । और उसके बाद गिरोह के सरगना की तलाश शुरू कर दी , इसके तुरंत बाद एसओजी टीम इंचार्च अशोक राठौर के नेतृत्व मे टीम के अन्य सदस्यों व डालनवाला पुलिस ने अपनी जांच मे आगे बढ़ते हुए आज 3 अप्रेल को  मुख्य अभियुक्त शैलेश कुमार पांडे पुत्र शेषनाथ पांडे निवासी एफ 70 पुलिस स्टाफ क्वार्टर्स गीता कॉलोनी नई दिल्ली को हरिद्वार चन्डी चौक के पास सफारी गाड़ी के साथ धर दबोचा । पुलिस ने आरोपी से  एक सफारी  गाड़ी, पाँच सीपीयू, पाँच मोनिटर, चार की बोर्ड, तीन  माउस, तीन यूपीएस, छ: टेलीफोन यंत्र:, एक लेन कार्ड, एक राउटर , एक प्रिंटर, इक्किश स्टाम पेपर खाली,  तीन रबर स्टैंप विभिन्न कंपनीयों के कागजात  व रजिस्टर आदि सामान बरामद कर जब्त किया गया है । वहीं आरोपी को  न्यायालय के समक्ष पेश किया गया व उसे  रिमांड पर लेकर मामले से  जुड़े  अन्य अभियुक्तों व वांछित चल रहे अभियुक्तों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है ।  एसओजी इंचार्ज अशोक राठौर ने बताया कि उक्त मामले वांछित चल रहे अभियुक्तों मे अंजलि, पी0के0 नागेंद्र, उत्कृष्ट सिन्हा, प्रिया जैन, कल्याण दास गुप्ता, सिमरन मल्होत्रा, राजीव श्रीवास्तव, दिनेश, sk पाठक, मुकेश पटेल, अमित श्रीवास्तव, शरद कुमार, रवि मल्होत्रा, मुजाहिद खान को गिरफ्तार किया जाना बाकी है । जबकि मामले का असली मास्टर माईण्ड पुलिस के हत्थे चढ़ चुका है । और जल्दी ही अब अन्य को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा ।

फर्जी गिरोह को पर्दाफास करने के लिए उप निरीक्षक मुकेश त्यागी प्रभारी एसओजी, उप निरीक्षक अशोक राठौर, हेड कांस्टेबल सुनील कुमार, कांस्टेबल गंभीर, राजीव, लोकेंद्र,  विपिन, संदीप , नत्थी लाल उनियाल प्रभारी थाना डालनवाला, उपनिरीक्षक पुनीत दनौषी, हेड कांस्टेबल मनवीर सिंह चौहान, कांस्टेबल देवेंद्र सिंह, चालक विजयपाल सिंह आदि की विशेष टीम गठित की गई थी ।

Youth icon Yi National Creative Media Report, 3.04.2016 

By Editor

2 thoughts on “फर्जी बीमे के नाम पर ठगी करने वाला शातिर बदमास दबोचा दून पुलिस ने …!”
  1. उत्तराखंड police द्वारा एक बेहतरीन प्रयास बधाई के पात्र

    1. जी बिल्कुल पुलिस ने एक गिरोह को किया बेनकाब

Comments are closed.