Youth icon Yi National Creative Media Report
Youth icon Yi National Creative Media Report

Badwani MP : और मंत्री जी ने भरी सभा में अपनी टकली धुलवा डाली …!

 बड़वानी, मध्य प्रदेश !   प्रदेश के केबिनेट मंत्री अंतरसिंह आर्य ने एक भरी जनसभा में

लेख : ब्रजेश राजपूत, पत्रकार , समीक्षक (मध्य प्रदेश)
लेख : ब्रजेश राजपूत, पत्रकार , समीक्षक (मध्य प्रदेश)

अपनी खुद की टकली धुलवा डाली । जी हाँ … सुनने या पढ़ने में आपको जरूर अटपटा लग रहा होगा लेकिन सच्चाई यही है । कैबिनेट मंत्री ने मंच पर आने के बाद लंबे चौड़े भाषणों के बजाय खुद का ही गंजा सिर धुलवा डाला, मंत्री का ऐसा व्यवाहार देख पूरा माहौल जोरदार ठहाकों से गूज़ उठा लेकिन मंत्री जी को कहाँ परवाह थी कि कौन हंस रहा है और कौन नहीं …! उन्हें तो बस वह करना था जो वह सोचकर आए थे । और उन्होने उसे बड़े सिद्दत के साथ किया भी ।

मौका था विश्व पर्यावरण  दिवस  का जिसके संबंध में एक आम जनसभा  का आयोजन किया गया था जिसमे मध्यप्रदेश के श्रम मंत्री अतर सिंह बतौर  मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे  ।  दरअसल

मधी प्रदेश मे कैबिनेट मंत्री अतर सिंह आरी ने धुलवाई अपनी टाकली ।
प्रदेश मे कैबिनेट मंत्री अतर सिंह आर्य ने मंच पर धुलवाई अपनी टाकली ।

विश्व में बढ़ते औद्योगिकरण एवं शहरीकरण के फलस्वरूप बड़े पैमाने पर पेड़ों को काटा जा रहा है । परिणाम स्वरूप वातावरण में कार्बनडाई आक्साईड की मात्रा लगातार बढ़ रही है । कार्बनडाई आक्साईड के उत्सर्जन में वृद्धि होने से ग्लोबल वार्मिंग की घटना हो रही है । ग्लोबल वार्मिंग के कारण द्विपीय देशों  तथा निचले तटीय क्षेत्रों के लिए लगातार खतरा बढ़ता जा रहा है । विश्व जलवायु सम्मेलनों में कार्बनडाई आक्साईड के उत्सर्जन में कटौती किए जाने संबंधी प्रस्ताव पारित तो हो रहे हैं किन्तु कतिपय विकसित देशों की हठधर्मिता के कारण इन पर अमल नहीं हो पा रहा है ।  विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर आज भारत के साथ ही पूरे विश्व में वातानुकूलित सभागारों में बड़ी -बड़ी सभाएं आयोजित की जा रही  हैं जिसमे लंबे चौड़े और बोझिल व्याख्यान के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण का महत्व  ऐसे लोगों को समझाया जा रहा है जिनकी पर्यावरण सुरक्षा में कोई सीधी भागीदारी नहीं है ।

लेकिन आज भारत के मध्य प्रदेश प्रांत के बड़वानी क्षेत्र में आयोजित एक आम सभा में मध्य प्रदेश के श्रम मंत्री अतर सिंह ने पर्यावरण सुरक्षा का महत्व वहाँ बैठे आम लोगों को को एक अनूठे तरीके से समझाने की कोशिस की ।

जिस व्यक्ति के सिर पर घने बाल मिले उसे भी मंच पर धो डाला
जिस व्यक्ति के सिर पर घने बाल मिले उसे भी मंच पर धो डाला ।
मंत्री ने अपने गंजे सिर पर पानी डाल कर बताया कि वृक्षो का महत्व क्या होता है ।   श्रम मंत्री अंतरसिंह आर्य ने सेंधवा विधान सभा से  वृक्ष लगाओ, वन बचाओ  अभियान की शुरुवात करते हुवे वन और वृक्ष का महत्त्व समझाया । उन्होने  खुद की टकली पर पानी डलवा लिया । सिर गंजा होने के कारण  सारा पानी बह गया, फिर उन्होने यही क्रिया अपने बगल में खड़े एक व्यक्ति जिसके सिर पर घने बाल थे पर भी दोहराई तो उसके बालों में  कुछ पानी अटका रहा । मंत्री के इस प्रयोग का मतलब भी साफ था कि जिस तरह से उनके गंजे सिर में बाल न होने के कारण पानी की एक भी बूंद सिर पर नहीं अटकी इसी प्रकार वृक्ष विहीन धरती पर भी पानी नहीं रुक सकता है । अर्थात पानी के लिए वृक्षों का होना आवश्यक है । इस प्रकार उन्होने वृक्ष लगाओ, वन बचाओ अभियान में छिपे उद्देश्य को बिल्कुल आसान तरीके से सभा में मौजूद आम जनमानस को समझाने की कोशिस की ।
यद्यपि कुछ लोगों को मंत्री का यह व्यवहार प्रथम दृष्टि में हास्यास्पद लगा हो अथवा मीडिया के लिए सुर्खियां बटोरने का एक सुनहरा माध्यम भी बना हो, तथापि मंत्री की इस अनूठी पहल ने यह संदेश जरूर दिया है कि पर्यावरण सुरक्षा के संबंध में आम लोगों को समान्य तरीके से समझाकर तथा उन्हें इसके प्रति संवेदनशील बनाकर  पर्यावरण की सुरक्षा अधिक प्रभावकारी रूप में की जा सकती है । संभवत: मंत्री की इस अनूठी पहल का यही निहितार्थ भी है और भविष्य के लिए संदेश भी ।

*ब्रजेश राजपूत  

Copyright: Youth icon Yi National Media, 05.06.2016

यदि आपके पास भी है कोई खास खबर तो, हम तक भिजवाएं । मेल आई. डी. है – shashibhushan.maithani@gmail.com   मोबाइल नंबर – 7060214681 , और आप हमें यूथ आइकॉन के फेसबुक पेज पर भी फॉलो का सकते हैं ।  हमारा फेसबुक पेज लिंक है  –  https://www.facebook.com/YOUTH-ICON-Yi-National-Award-167038483378621/  

By Editor

3 thoughts on “Badwani MP : और मंत्री जी ने भरी सभा में अपनी टकली धुलवा डाली …!”
  1. सुर्खियां बटोरने का हथकंडा लोग भले मान लें लेकिन सहजरूप से आम जनता को समझाने का नायाब तरीका अति प्रशंसनीय है

  2. पर्यावरण संरक्षण के सम्बन्ध मे अपनी बात समझाने का नायाब तरीका।

Comments are closed.