Youth icon yi Media logoDilemma : भाजपा दुविधा में, फोनिया अपनी जिद्द पर कायम । सोशल मीडिया में आ रही खबरों का किया खण्डन ।

RAKESH BIJALWAN, Yi
RAKESH BIJALWAN, Yi

Youth icon Yi media Report Dehradun, 

चुनाव में हार होगी या जीत और यह तभी होगी जब आप मैदान में उतरेंगे, मुझे चुनाव हारने की चिंता को लेकर मैदान में नहीं उतरना है बल्कि अपने क्षेत्र की जनता की भलाई के लिए ईमानदारी के साथ उनके बीच खड़ा होना है । और जब जनता के बीच जाऊंगा तो जीत भी अवश्य हासिल होगी ।
आई. ए. एस.  विनोद फोनिया । 

देहरादून, आई. ए. एस. विनोद फोनिया 13 नवम्बर को होंगे भाजपा में शामिल ! इस तरह की खबर आज सुबह से ही सोशल मीडिया पर  खूब चल रही है । लेकिन जब आज शाम को विनोद फोनिया से फोन पर बात हुई तो उन्होंने सोशल मीडिया पर लगातार आ रही खबरों का खंडन करते हुए कहा कि उन्हें इस बारे में कोई सूचना नहीं है । उन्होंने आगे कहा कि मैं बदरीनाथ विधानसभा से निर्दलीय चुनाव लड़ने की पूरी तैयारी कर चुका हूँ, अभी भी उस मसले पर ही मीटिंग चल रही है अब पीछे हटने का तो कोई मतलब ही नहीं होता है । जब उनसे सवाल किया गया कि अगर उन्हें भाजपा में शामिल होने का न्योता मिल जाता है तो ? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि किसी भी दल में शामिल होने का एक तरीका होता है ऐसा तो है नहीं कि उधर से मुझे एक घंटे पहले कहा जाय कि आ जाओ और मैं चलें जाऊंगा । बातचीत में फोनिया ने साफ़ किया कि अभी तक भाजपा की ओर से उन्हें कोई न्योता नहीं मिला है और न्योता मिल भी जाता है तो वह अपने चुनाव लड़ने के फैसले पर कायम हैं चाहे कोई टिकट दे या न दें । भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री के बेटे  आई. ए. एस. विनोद फोनिया फोन पर हुई बातचीत में यह भी कहा कि उनके पिता भाजपा में अब हैं भी या नहीं इसका भी मुझे पता नहीं है इसकी जानकारी भाजपा के वरिष्ठ लोग ही आपको अच्छे से दे पाएंगे । बहरहाल बातचीत से स्पष्ट हो गया कि अगर भाजपा विनोद फोनिया को 13 नवम्बर को देहरादून में अमित शाह की मौजूदगी में पार्टी में शामिल होने का न्यौता दे भी दे तो फोनिया भी बदरीनाथ से टिकट मिलने की शर्त पर ही पार्टी में शामिल होंगे । ऐसे में अगर भाजपा इस बार भी समय रहते फोनिया को अपने पाले खींचने नाकामयाब रहती है तो बदरीनाथ सीट पर भाजपा को पूर्व की भांति भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है । बताते चलें कि बदरीनाथ सीट से आई. ए. एस. विनोद फोनिया के पिता केदार सिंह फोनिया उत्तर प्रदेश से लेकर उत्तराखंड की विधानसभा में प्रतिनिधित्व कर चुके हैं । बदरीनाथ सीट भाजपा की प्रभाव वाली सीट मानी जाती रही है लेकिन पूर्व से कुछ समीकरण बिगड़ गए कारण बना चुनावों के  एन वक़्त भाजपा में केदार सिंह फोनिया की हुई अनबन ,  जिसके साथ ही तबसे यह सीट भाजपा के हाथ से फिसल चुकी है । फोनिया को उस क्षेत्र में एक मजबूत जनाधार व ईमादार छवि का नेता माना जाता है ।

©  राकेश बिजल्वाण ,  

Copyright: Youth icon Yi National Media, 11.11.2016

यदि आपके पास भी है कोई खास खबर तोहम तक भिजवाएं । मेल आई. डी. है – shashibhushan.maithani@gmail.com   मोबाइल नंबर – 7060214681 , 9756838527, 9412029205  और आप हमें यूथ आइकॉन के फेसबुक पेज पर भी फॉलो का सकते हैं ।  हमारा फेसबुक पेज लिंक है  –  https://www.facebook.com/YOUTH-ICON-Yi-National-Award-167038483378621/

यूथ  आइकॉन : हम न किसी से आगे हैं, और न ही किसी से पीछे ।

By Editor