yi-logo-newNandu The Great : शाबास ! और नंदू ने उन्हे बचा ही लिया… Happy Deepawali

Youth icon Yi media Report, 

मै भी अपने ऑफिस जा रहा था मेरी कार भी बस के पीछे चल रही कुछ गाड़ियों के पीछे थी मुझे लगा कि बस ड्राईबर ओबरटेक कर रहा है लेकिन आगे चल रही बस नाली के रैम्प पर चढ़कर एक दुकान से जा टकराई तो हकीकत का पता चला । बस ड्राइबर प्रदीप की हिम्मत व उसकी सूझबूझ को सलाम । * Shashi Bhushan Maithani 'Paras' Youth icon Yi Report
मै भी अपने बच्चों सहित अपने गांव जा रहा था मेरी कार भी पीछे-पीछे चल रही थी ।  लेकिन आगे-आगे  चल रही मैक्स एक भीषण हादसे का शिकार होने से बच गई ।  ड्राइबर नंदू  की हिम्मत व उसकी सूझबूझ को सलाम ।
* Shashi Bhushan Maithani ‘Paras’
Youth icon Yi Report
और बच गई सबकी जान ।
और बच गई सबकी जान ।

नंदू सुबह-सुबह 10 सवारियों के साथ मैक्स गाड़ी लेकर रवाना हुआ था । लगभग दो घंटे बाद उसकी गाड़ी में अचानक से ऐसा कुछ हुआ कि जिसके बाद गाड़ी में सवार सभी सवारी बदहवाश होकर ज़ोर-ज़ोर से  चीखने चिल्लाने लगे।

ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग 58 पर व्यासी से लगभग 12 किलोमीटर पहले मरीनड्राईब बीच के पास देहरादून से गोपेश्वर के लिए जा रही मैक्स गाड़ी UK 11 TA 0725 अचानक से अनियंत्रित होने लगी जिससे हाईवे पर आने-जाने वाली गाड़ियां जहां तहां खड़ी हो गई । दूसरी ओर मैक्स गाड़ी में सवार सवारियों की ज़ोर-ज़ोर से चीखने की आवाज आने लगी । लेकिन इस बीच गनीमत ये रही कि मैक्स ड्राईबर गोपेश्वर निवासी नंदू ने हिम्मत न हारते हुए हाइवे पर तेजी से लड़खड़ाते हुए लगातार आगे बढ़ रही गाड़ी से नियंत्रण नहीं खोया, जिसके बाद एक बड़ा हादशा होते-होते रह गया ।

बड़ी घटना टल जाने के बाद भले ही सभी लोगों ने ड्राईबर नंदू को शाबासी दी हो पर नंदू ने बड़प्पन दिखाते हुए अपनी गाड़ी में सवार सवारियों की तारीफ करते हुए कहा कि अगर वे सब मेरी हिम्मत न बढ़ाते या सवारी खुद भी हिम्मत हार जाती तो शायद मै भी कुछ न कर पाता और कुछ भी हो सकता था ।
ये है नंदू :  बड़ी घटना टल जाने के बाद भले ही सभी लोगों ने ड्राईबर नंदू को शाबासी दी हो पर नंदू ने बड़प्पन दिखाते हुए अपनी गाड़ी में सवार सवारियों की तारीफ करते हुए कहा कि अगर वे सब मेरी हिम्मत न बढ़ाते या सवारी खुद भी हिम्मत हार जाती तो शायद मै भी कुछ न कर पाता और कुछ भी हो सकता था ।

दरअसल घटना 27 अक्टूबर गुरुवार सुबह लगभग साढ़े 9 बजे करीब की है । इस बीच मै स्वयं भी दीपावली के लिए परिवार सहित चमोली स्थित अपने गांव मैठाणा जा रहा था ।  नंदू की मैक्स सवारियों को लेकर हमारे आगे-आगे चल रही थी, कि तभी अचानक से मरीन ड्राईब की ढलान पर ऐसा कुछ हुआ जिसने सभी के होश उड़ा दिया थे । मैक्स ड्राईबर नंदू ने बताया कि लगभग तीन सो मीटर की दूरी पर पुल पार करते ही उसकी गाड़ी में अचानक से कुछ खराबी आ गई थी । पुल के बाद तेज ढलान होने के कारण गाड़ी ने रफ्तार पकड़ ली थी नंदू को तभी यह एहसास भी हो गया था कि गाड़ी में बड़ी खराबी आ गई है । लेकिन उसने धैर्य नहीं खोया । नंदू ने बताया कि अगर चट्टान से भी गाड़ी को भिड़ाता तो जानमाल का भारी नुकशान हो सकता था क्योंकि गाड़ी ढलान पर थी और तेज रफ्तार में भी । नंदू जैसे तैसे मरीन ड्राईब की ढलान को पार कर कुछ ही दूरी पर आने वाली चढ़ाई तक गाड़ी को पहुंचाना चाहता था । लेकिन तभी गाड़ी अचानक से उस तरफ भागने लगी जहां गहरी खाई के बाद गंगा नदी बह रही थी । परंतु ऐन वक़्त ऐसा चमत्कार हुआ जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी, गहरी खाई से महज 4 फीट की दूरी पर ड्राईबर साईड का अगला टायर अचानक से सड़क पर बैठ गया नंदू ने बताया कि ऐसा वाल बोल्ट टूटने के कारण हुआ ।

बड़ी घटना टल जाने के बाद भले ही सभी लोगों ने ड्राईबर नंदू को शाबासी दी हो पर नंदू ने बड़प्पन दिखाते हुए अपनी गाड़ी में सवार सवारियों की तारीफ करते हुए कहा कि अगर वे सब मेरी हिम्मत न बढ़ाते या सवारी खुद भी हिम्मत हार जाती तो शायद मै भी कुछ न कर पाता  और कुछ भी हो सकता था ।

कुल मिलाकर यह बात हम सभी को समझनी होगी कि जब कभी भी कोई घटना हमारे जीवन में घटे तो उससे हमें सबसे पहले हमारी हिम्मत, और हमारा धैर्य ही बचा सकता है । जैसा कि आज नंदू ने किया ।

*प्रस्तुति : शशि भूषण मैठाणी ‘पारस’ ,  

Copyright: Youth icon Yi National Media, 28.10.2016

यदि आपके पास भी है कोई खास खबर तोहम तक भिजवाएं । मेल आई. डी. है – shashibhushan.maithani@gmail.com   मोबाइल नंबर – 7060214681 , 9756838527, 9412029205  और आप हमें यूथ आइकॉन के फेसबुक पेज पर भी फॉलो का सकते हैं ।  हमारा फेसबुक पेज लिंक है  –  https://www.facebook.com/YOUTH-ICON-Yi-National-Award-167038483378621/

यूथ  आइकॉन : हम न किसी से आगे हैं, और न ही किसी से पीछे ।

By Editor

3 thoughts on “Nandu The Great : शाबास ! और नंदू ने उन्हे बचा ही लिया… Happy Deepawali”
  1. नन्दू को सलाम। और भगवान का भी शुक्रिया उतना बड़ा हादसा टल गया।

  2. सलाम नंन्दू जी को ऐसे हिम्मत वाले हमारे देवभूमि के ही होते हैं जय देवभूमि

Comments are closed.