Netaa ji Nahi Sudhrenge : ठीक चुनाव से पहले नेता जी क्यों बन गए जनता के लिए मुसीबत ? क्यों हुए लोग परेशान !  चुनाव नजदीक आते ही  समाजसेवियों की बढ़ी चिन्ता…!   
* आंखे मूंद के बैठा है प्रशासन

Jitendra Joshi,
Yi Report Satpuli Pauri
चुनाव 2017

YOUTH icon Media, भले ही अभी चुनावों की तिथि का ऐलान भी नहीं हुआ है पर नेताओं की हरकतों से लोग परेशान होने लगे हैं । नेताओं की ऐसे कारनामों के चलते अब  उत्तराखंड में चुनावी मौसम के नजदीक आते ही  आम जन के अलावा समाजसेवियों में भी चिंता बढ़ती जा रही है । लेकिन लोगों की चिंता से बेपरवाह नेताजन अपनी धुन में रमे हुए हैं । नेताओं की इस लापरवाही पर प्रशासन की चुप्पी से भी समाजसेवी हैरान परेशान हैं । जिसके बाद प्रशासन ने भी अपनी ओर उठते सवालों के बाद तुरंत हरकत में आते हुए संबन्धित अधिकारियों को मामले का संग्यान लेने के अलावा कठोर कार्यवाही के भी निर्देश दे दिये है

पौड़ी-कांसखेत-सतपुली मोटर मार्ग पर गंगोटी के निकट विधायक निधि से बने कंडईधार दर्शन व विश्राम स्थल को संवारने में वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर दिनेश रावत व पौड़ी शहर के व्यापारी गणेश रावत,अनिल बड़थ्वाल, जर्नादन ममगई, रविंद्र नेगी, अमित नेगी आदि लगभग दो सालो से जुटे हुए है पर कंडईधार दर्शन व विश्राम स्थल पर चस्पा पोस्टर इस प्रचार विहीन मुहिम में अब रोड़ा बन रहे है । ये सभी समाजसेवी पूरे जनपद में अपनी इस खास मुहिम की अलख पिछले कई वर्षों से जलाए हुए हैं । लेकिन जैसे ही चुनाव नजदीक आते हैं तो नेता लोग इनकी सारी मेहनत पर पानी फेर लेते हैं ।  

अब आगामी चुनावों तक इसी तरह से विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा सार्वजनिक सम्पत्तियों को नुकसान पहुंचाया जाएगा । बड़ा सवाल यह कि इन्हे रोके कौन ??

पौड़ी,  सतपुली   बाजार  सहित एकेश्वर, द्वारीखाल, कल्जीखाल व पोखड़ा ब्लॉक के सार्वजनिक स्थानो पर विभिन्न राजनीतिक दलो के संभावित उम्मीदवारो द्वारा पोस्टर व बैनर लगाकर जनपद के  इलाको की खूबसूरत छ्टा को बदसूरत किया जा रहा है ।  लोक संपत्ति विरुपरण निवारण को धता बताकर सार्वजनिक स्थलो पर पोस्टर लगाने का काम बदस्तूर अब भी जारी है ।
दर्शन व विश्राम स्थल, यात्री स्टैंड, सरकारी भवन, बिजली के पोल आदि सार्वजनिक स्थान निशुल्क विज्ञापन पट्ट के रुप में उपयोग किए जा रहे है । सार्वजनिक स्थानो पर पोस्टर व बैनर लगाए जाने पर लोक संपत्ति विरुपरण निवारण अधिनियम के तहत जुर्माने व सजा का प्रावधान है पर हैरानी की बात है अधिनियम के तहत प्रशासन द्वारा आज न तो किसी को नोटिस भेजा गया है और न ही नियमानुसार कार्रवाई की गई है । उक्त मामले में जब समाजसेवियों व पर्यावरण प्रेमियों ने आवाज उठानी शुरू कर दी है तो उसके बाद पौड़ी के डीएम चंद्रशेखर भट्ट ने बताया कि जनपद के सभी उपजिलाधिकारियो को सार्वजनिक स्थानो पर लगाए गए पोस्टरो को चिन्हित करने व दोषियो के विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई करने हेतु र्निदेशित किया गया है । डीएम भट्ट ने बताया कि किसी भी उम्मीदवार को सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने व बिगाड़ने में दोषी पाए जाने पर नियमानुसार कार्यवाही सुनिश्चित कि जाएगी ।  

बताते चलें कि पौड़ी जनपद में पौड़ी-कांसखेत-सतपुली मोटर मार्ग पर गंगोटी के निकट विधायक निधि से बने कंडईधार दर्शन व विश्राम स्थल को संवारने में वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर दिनेश रावत व पौड़ी शहर के व्यापारी गणेश रावत,अनिल बड़थ्वाल, जर्नादन ममगई, रविंद्र नेगी, अमित नेगी आदि पर्यावरण प्रेमियो द्वारा निरंतर सार्वजनिक सम्पत्तियों का संरक्षण निस्वार्थ भाव से किया जा रहा है । इसी क्रम में इन्होने  व्यू एण्ड रेस्ट प्वाइंट सहित विभिन्न ईलाकों में पर्यावरण संरक्षण मुहिम को चलाकर  क्षेत्र में लगभग दो सालो से सामाजिक कार्यों में जुटे हुए है पर कंडईधार दर्शन व विश्राम स्थल सहित जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में सार्वजनिक सम्पत्तियों पर चस्पा पोस्टर इस प्रचार विहीन मुहिम में अब रोड़ा बन रहे है ।

*जितेंद्र जोशी, सतपुली 

Copyright: Youth icon Yi National Media, 22.12.2016

यदि आपके पास भी है कोई खास जानकारी तोहम तक भिजवाएं । मेल आई. डी. है – shashibhushan.maithani@gmail.com   

मोबाइल नंबर – 7060214681 , 9756838527, 9412029205  और आप हमें यूथ आइकॉन के फेसबुक पेज पर भी फॉलो का सकते हैं ।  

हमारा फेसबुक पेज लिंक है  – https://www.facebook.com/YOUTH-ICON-Yi-National-Award-167038483378621/

यूथ  आइकॉन : हम न किसी से आगे हैं, और न ही किसी से पीछे । 

By Editor