Youth icon Yi National Creative Media Report
Youth icon Yi National Creative Media Report

विकास की लड़ाई या कमीशन का खेल ….!

Pankaj mandoli , Srinagar , Yi Report
Pankaj mandoli , Srinagar , Yi Report

नगर पालिका श्रीनगर एवं प्रशासन के बीच इन दिनों सड़क निर्माण व पेयजल पाइप लाईन बिछाने को लेकर आपस मे ठन गई है । दूसरी ओर पालिका के तीन सभासदों ने  भी अपने बगावती तेवर दिखाने शुरू कर दिये हैं ।  और इस विवाद की वजह से आजकल श्रीनगर नगरपालिका चर्चा मे बना हुआ है । हालांकि जनता को पालिका, प्रशासन व उसके सभासदों की इस लडाई से कुछ लेना देना नहीं था , परंतु अचानक ही पालिका ने जब पूरे नगर क्षेत्र मे सफाई व्यवस्था ही रोक दी तो उसके बाद  नगर मे जगह-जगह कूडे के ढेर लग जाने के कारण जनता की मुशीबतें भी बढ़ गई है ।  अब ऐसे मे शहर की जनता का ध्यान फिलवक्त प्रदेश की राजनीति से हटकर नगर पालिका की राजनीति पर टीक गयी है ।

श्रीनगर नगरपालिका कार्यलय
श्रीनगर नगरपालिका कार्यलय

अगर सूत्रों की माने तो यह मामला दरअसल  पिछले काफी  समय से नगर पालिका की चार दीवारी  अंदर ही अंदर सुलग रहा था, इस  दरमियान पालिका अध्यक्ष व सभासदो के बीच तीखी नोकझोंक का होना भी बताया जा रहा है ,फिर भी  विवाद सड़को तक  नहीं पहुंचा था । लेकिन 23 अप्रैल को विवाद तब बढ गया जब नगर पालिका के तीन निर्वाचित सभासदो ने प्रशासन की मौजूदगी मे ही पानी की लाईन विछाने के लिए सडक खोदनी शुरू कर दी इसके बाद विवाद और बढ गया । जिससे  नाराज नगर पालिका अध्यक्ष ने सड़क खोदने वाले अपने ही सभासदों  के खिलाफ पुलिस मे लिखित शिकायत कर दी व दूसरे दिन नगर की सफाई व्यवस्था ठप करवा दी । अध्यक्ष के इस व्यवहार ने आग मे घी का काम कर डाला । जिसके बाद सभासदो ने भी नगर पालिका अध्यक्ष के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और अब उन्हें खुली चर्चा की चुनौती तक दे डाली है ।  सभासदों का आरोप  है कि पालिका अध्यक्ष के अड़ियल रवैये और जिद्द के चलते नगर क्षेत्र में विकास कार्य बुरी तरह से प्रभावित हो रहे है । जबकि इसके उलट पालिका  का तर्क है कि निर्माणदायी संस्था ने पालिका से एनओसी लिए विना ही पालिका की सडक खोद डाली है ।  इस कृत्य से  नगर पालिका को क्षति पहुंची है ।

हालांकि पालिका, प्रशासन व सभासदो का अपना अपना तर्क है लेकिन चाय की दुकानो से लेकर दफ्तरो तक यह मामला चर्चाओ मे है लोग दबी जवान से यह कहने से नहीं चूक रहे कि यह मामला विकास से अधिक कमीशन के खेल का लग रहा है । क्योकिं नगर मे करोड़ों की लागत से सड़क व पानी की लाईन विछनी है । और इसी भारी धनराशि मे कमीशन के खेल के चलते  यह विवाद बढ़ा है जिसे अब चतुराई के साथ राजनीतिक रंग देने की कोशिस की जा रही है ।

 

By Editor